आसिफा

Poem in hindi आसिफा




Poem in hindi आसिफा

Poem in hindi आसिफा

वो सहम गई होगी।
वो सिहर गई होगी।
शायद वो हारकर।
बिखर गई होगी।
क्या गलती थी उसकी।
वो सजा से लिपट गई होगी।
वो तन्हा एक नन्ही कली।
खुद में सिमट गई होगी।
दर्द भी नहीं जानती थी जो।
आंसुओं से भर गई होगी।
कैद घूरती निगाहों से।
कितना डर गई होगी।
बंद आँखों की रोशनी में। Continue reading

तेरे बिना

Poem about love तेरे बिना



Poem about love तेरे बिना

Poem about love तेरे बिना

फिर से चुरा
ले हर आलम मेरा
चैन आए ना इन पलों को।।
तेरे बिना।
तेरे बिना।।
करवट बदल बदल।
थक गयी शब मेरी।
और एक ये रात है जो।
रूक गयी है।
तेरे बिना।
तेरे बिना।
हाल-ए दिल आवारा। Continue reading

Song भीग लूं

Song भीग लूं




Song

Song भीग लूं

रोशनी सी बहती है।
जुगनुओं की रजाई में।
चंदा की बातें है।
चांदनी से रूबाई में।
आवारा लहरें।
ये आवारा लहरें।
मिलती है जिस किनारे से।
चल इस शाम को।
तय कर लें।
एक दूजे के सहारे से।
आधा सा। पौना सा।
या फिर पूरा।
भीग लूं।
तुझमें भीग लूं।
गुजर कर तुझमें।
तुझको मैं सीख लूं।
हां सीख लूं।। Continue reading

Song about love मद्धम मद्धम

Song about love मद्धम मद्धम




Song about love

Song about LOVE मद्धम मद्धम

तेरी सांस सांस
मद्धम मद्धम।
पास आने लगी।
प्यार होता है ऐसा।
कुरबतें बताने लगी।
लेकर तेरा नाम अब।
होता है सवेरा।
उस गली गुजरे ये दिल।
तेरा हो जहां बसेरा।
हो जहां बसेरा।
तेरी सांस सांस।
मद्धम मद्धम।
पास आने लगी।
ख्वाब जो चूने थे दिल नें।। Continue reading

चल रे नारी





Women day poetry

Women day poetry चल रे नारी

अरमानों की चोखट पर
क्यू है डर के ताले
अब भी बैठी है तेरी नज़रें
सपनो को सँभाले
बूंद सी फिर बरस कहीं पर
क्यू है बादलों के हवाले
चल रे नारी
चल रे फिर तू
बिन कोई पहरा डाले
चल रे नारी
चल रे फिर तू
बिन आंसू कोई निकाले Continue reading